Home » कैलाश मानसरोवर भवन से पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा : आदित्यनाथ

कैलाश मानसरोवर भवन से पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा : आदित्यनाथ

by admin@bremedies
0 comment

गाजियाबाद/एजेंसी- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कैलाश मानसरोवर भवन पर्यटन को बढ़ावा देने का प्रतीक बनेगा। योगी ने कैलाश मानसरोवर भवन की नींव रखने के बाद कहा कि यह भवन न केवल पर्यटन का प्रतीक बनेगा बल्कि पर्यटन को बढ़ावा देने का काम भी करेगा। मथुरा को द्वारका से जोडऩे एवं दूसरे तीर्थ स्थलों को भी एक दूसरे से जोडऩे पर पहल छेड़ी गई है। गढ़ मुक्तेश्वर को हरिद्वार की तर्ज पर विकसित किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने की अपार संभावनाएं हैं। पर्यटन को रोजगार से जोड़ते हुए देश एवं दुनियां के मानचित्र पर स्थापित करने का काम राज्य सरकार करेगी। कविनगर रामलीला मैदान में आयोजित कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र की सफलता के चलते ही राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन पायी है। उन्होंने इस बात को लेकर अपनी नाराजगी जतायी कि जिस स्थल पर कैलाश मानसरोवर भवन प्रस्तावित किया गया था, कुछ लोगों द्वारा अड़चन डालने का काम किया गया था। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की भांति ही उत्तर प्रदेश में गांव किसान और नौजवान के हितों को ध्यान में रखते हुए काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि धर्म स्थलों को सिर्फ उपासना स्थल तक ही सीमित नहीं किया जाना चाहिए बल्कि उन्हें सामाजिक केंद्र के रूप में विकसित करने पर जोर दिया जाएगा।
निजी स्कूलों की मनमानी से त्रस्त अभिभावकों ने भी इस बीच अपना विरोध दर्ज कराया। इस पर योगी ने कहा कि अभिभावकों की समस्याओं को हल करने के लिए ही कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी की रिपोर्ट आने पर निश्चित तौर पर निजी स्कूलों पर सरकार नकेल कसने का काम करेगी।
उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य समस्याओं का समाधान करना है। किसानों को उनकी मेहनत का लाभ मिले, इसके लिए ही राज्य के 86 लाख किसानों की कर्ज माफी का निर्णय लिया गया है। आठ सितंबर से कैंप लगाकर किसानों को कर्ज माफी के प्रमाण पत्र दिए जाएंगे। गन्ना किसानों का 93 फीसदी भुगतान सुनिश्चित करा दिया गया है। आने वाले वक्त के लिए भी समय सीमा तय कर दी गई है।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @2023  All Right Reserved – Developed by IJS INFOTECH