Tuesday, September 27, 2022
Home एजुकेशन आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के वार्षिक दीक्षांत समारोह में 278 स्टूडेंट्स को डिग्री वितरीत की

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के वार्षिक दीक्षांत समारोह में 278 स्टूडेंट्स को डिग्री वितरीत की

by Business Remedies
0 comment

बिजऩेस रेमेडीज/जयपुर
आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी ने 6 अगस्त 2022 को पीएचडी प्रोग्राम एवं दो साल के एमबीए हॉस्पिटल एण्ड हैल्थ मैनेजमेंट, फार्मास्यूटिकल मैनेजमेंट एवं रुरल मैनेजमेंट के लिए अपने वार्षिक दीक्षांत समारोह का अयोजन किया। इस अवसर पर सभी छात्र-छात्राओं को उनके शैक्षणिक उत्कृष्टता के लिए वीपी अग्रवाल गोल्ड एवं सिल्वर मैडल्स प्रदान किए गए।
स्वागत भाषण देते हुए आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेंट डॉ पी आर सोडानी ने सभी छात्र-छात्राओं को बधाई दी एवं आने वाले वर्षों में उनकी सफलता की कामना करते हुए कहा कि, भारत सरकार ने आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आजादी को अमृत महोत्सव शुरु किया है। भारत के लिए अगले 25 साल स्वास्थ्य सेवा के लिए हैं। प्रौघोगिकी उन्नत्ति और कुशल भारत कार्यक्रमों के कारण भारत हैल्थकेयर का हब बन जाएगा और हमारे छात्र अगले 25 सालों के लिए स्वास्थ्य सेवा उघोग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने जा रहे हैं। डॉ सोडानी ने छात्रों से कहा कि, साहसी बनो, अपना सर्वश्रेष्ठ दो। आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी, जयपुर के चेयरपर्सन व इंडियन फार्मास्युटिकल्स एलायंस के महासचिव सुदर्शन जैन ने भी स्नातक और डॉक्टरेट छात्रों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आइए हम जीवन में इन पांच बिंदुओं का पालन करें- मूर्ख व भूखे बने रहें, यथास्थिति को चुनौती दें, लचीला रहें, स्वस्थ व सही रहें।
दीक्षांत भाषण देते हुए पीडी हिंदुजा हॉस्पिटल एंड मेडिकल रिसर्च सेंटर के सीईओ गौतम खन्ना ने कहा कि परिवर्तन ही एकमात्र ऐसी चीज है जो इस दुनिया में स्थिर है। स्वस्थ राष्ट्र किसी भी सफल राष्ट्र का आधार होता है। गेस्ट ऑफ ऑनर राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हैल्थ साइंसेज, वाइस चांसलर डॉ. सुधीर भंडारी ने कहा कि यह राजस्थान राज्य में ट्रेंड सेटिंग वाला क्षण है। हर अच्छे इंसान के पास आत्मसंस्कृति होती है, जो आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी प्रदान करती है और यह बदलती हुई मांग के अनुकूल भी है। उन्होंने स्टूडेंट्स से कहा जीवन की चुनौतियों का उत्साह आनंद व सच्चाई के साथ सामना करें। फाउंडर एवं ट्रस्टी, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हैल्थ मेनेजमेंट रिसर्च, डॉ. अशोक अग्रवाल व्यक्ति को हमेशा इनोवेटिव होना चाहिए और इसके लिए आपको हमेशा स्टूडेंट बने रहना होगा।
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हैल्थ मेनेजमेंट रिसर्च के ट्रस्टी सचिव और प्रसिद्ध पब्लिक हैल्थ विशेषज्ञ डॉ. एस. डी. गुप्ता ने सभी स्नातक व डॉक्टरेट स्टूडेंट्स को उनकी सफलता पर बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह अनूठा बैच है जिसने कोविड महामारी की वजह से घर बैठे सीखकर डिग्री हासिल की। हमने शिक्षण सीखने की नई शिक्षाशास्त्र सीखी।

You may also like

Leave a Comment