Home » यात्री वाहनों का निर्यात अप्रैल से दिसंबर 2019 के दौरान छह प्रतिशत बढ़ा

यात्री वाहनों का निर्यात अप्रैल से दिसंबर 2019 के दौरान छह प्रतिशत बढ़ा

by Business Remedies
0 comment

नई दिल्ली। देश से यात्री वाहनों का निर्यात चालू वित्त वर्ष के पहले नौ माह (अप्रैल-दिसंबर) के दौरान 5.89 प्रतिशत बढ़कर 5,40,384 इकाई पर पहुंच गया। वाहन विनिर्माताओं के संगठन सियाम के आंकड़ों के अनुसार इस अवधि में हुंडई मोटर ने सबसे अधिक 1.45 लाख यात्री वाहनों का निर्यात किया।
सियाम के आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष के पहले नौ माह में यात्री वाहनों का निर्यात 5,40,384 इकाई रहा, जो इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 5,10,305 इकाई रहा था। इस दौरान कारों का निर्यात 4.44 प्रतिशत बढ़कर 4,04,552 इकाई पर पहुंच गया।
वहीं यूटिलिटी वाहनों का निर्यात 11.14 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 1,33,511 इकाई रहा। वहीं वैन का निर्यात 17.4 प्रतिशत घटकर 2,810 इकाई से 2,321 इकाई पर आ गया। दक्षिण कोरिया की कंपनी ने समीक्षाधीन अवधि में 1,44,982 यात्री वाहनों का निर्यात किया। यह इससे पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि से 15.17 प्रतिशत अधिक है। कंपनी अफ्रीका, पश्चिम एशिया, लातिनी अमेरिका, आस्ट्रेलिया और एशिया प्रशांत के 90 देशों को निर्यात करती है।
हुंडई हुंडई मोटर इंडिया के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकार एस एस किम ने कहा, ”कुल 1,44,982 इकाइयों के निर्यात और 26.8 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी के साथ हुंडई ने एक बार फिर निर्यात बाजार में अपना शीर्ष स्थान कायम रखा है।
अपने शानदार प्रदर्शन करने वाले ब्रांडों के जरिये निर्यात बाजार में कंपनी का दबदबा बना हुआ है। अप्रैल-दिसंबर की अवधि में फोर्ड इंडिया का निर्यात 12.57 प्रतिशत घटकर 1,06,084 इकाई रह गया। वहीं घरेलू कार बाजार की अग्रणी कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया का निर्यात 1.7 प्रतिशत घटकर 75,948 इकाई रह गया। वहीं समीक्षाधीन अवधि में निसान मोटर इंडिया का निर्यात 39.97 प्रतिशत बढ़कर 60,739 इकाई पर पहुंच गया। जनरल मोटर्स इंडिया का निर्यात 54,863 इकाई रहा। जनरल मोटर्स ने घरेलू बाजार में वाहनों की बिक्री बंद कर दी है। अप्रैल-दिसंबर में फॉक्सवैगन इंडिया का निर्यात 47,021 इकाई रहा।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @2023  All Right Reserved – Developed by IJS INFOTECH