Thursday, August 11, 2022
Home प्रादेशिक स्टार्टअप्स देश की अर्थव्यवस्था को एक नया प्रवाह प्रदान करता है : रामानन रामनाथन

स्टार्टअप्स देश की अर्थव्यवस्था को एक नया प्रवाह प्रदान करता है : रामानन रामनाथन

by Business Remedies
0 comment

जयपुर। एसएमसी (स्टार्टअप मास्टर्स क्लास) का 18 वां संस्करण का आयोजन अटल एक्यूबेशन सेन्टर जेकेएलयू में नीति आयोग एवं आईआईटी कानपुर एल्यूमिनी एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। इस आयोजन का मुख्य आधार एक ऐसे अनुकूल पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करना है, जो नवोदित राष्ट्र के इनोवेटिव नेशन के उत्थान के उद्देश्य को बढ़ावा देते हुए नवोदित उद्यमियों का पोषण करता है, जो ‘शाइनिंग इंडियाÓ के नाम को बनाए रखता है।
इस आयोजन में भाग लेने वाले प्रमुख निकायों में आईआईटीके एल्यूमी एसोसिएशन, एन्त्रप्रेन्योरशिप सेल आईआईटी कानपुर, नीति आयोग, अटल इंक्यूबेशन सेन्टर जेकेएलयू, एनर्जी इफिशिएंट सर्विसेज लिमिटेड (ईईसीएल), सोश्यल अल्फा, समर्थ कम्यूनिटी, स्टार्टअप ओएसिस, एआईसी बनस्थली, एमेजोन वेब सर्विसेज, हेडस्टार्ट, एमएएसएच फाउण्डेशन तथा अन्य प्रतिष्ठित निकायों ने इस प्रयास में प्रतिभागिता की।
इस अवसर पर विकास की भावनाओं पर जोर देते हुए सूचना प्रौद्योगिकी विभाग राजस्थान सरकार के आयुक्त एवं विशेष सचिव अम्बरीश कुमार ने कहा कि युवा लोगों को ध्यान में रखने की जरूरत है कि आज की जरूरत/मांग बड़े पैमाने पर समस्याओं के समाधान की है जो सबसे व्यापक तरीके से संभव हो। यह स्टार्टअप मास्टर क्लास लोग क्या चाहते हैं इस बात को समझाने के तरीके प्रदान करता है। इसी प्रकार ग्लेडमाइण्ड के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं एल्यूमिनी एसोसिएशन आईआईटी कानपुर के अध्यक्ष प्रदीप भार्गव ने कहा कि जबकि एक विचार का जन्म महत्वपूर्ण है, लोगों को विचारों की बारीकियों को जानना चाहिए और यह भी कि जाने कि वे क्या निष्पादित करेंगे क्योंकि विचार स्वयं व्यवसाय नहीं बन जाएगा।
इसी प्रकार अटल इंक्यूबेशन मिशन, नीति आयोग के निदेशक रामानन रामनाथन ने कहा कि स्टार्टअप्स इस देश की जीडीपी का निचोड या यूं कहे सार हैं, जो देश की अर्थव्यवस्था को एक नए प्रवाह प्रदान करता है। इन स्टार्टअप्स की सफलता के लिए यह बेहद जरूरी है कि इन्हें सही मात्रा में सहायता जिसमें इसकी मॉनिटरिंग से लेकर सही उपकरण एवं टेक्नोलॉजी मिलती रहे।
इस अवसर पर जेकेएलयू के प्रो वाइस चांसलर आशीष गुप्ता ने कहा कि युवा मन के भीतर सुलगने वाली इस आग को अक्सर वित्तीय और अन्य बाधाओं के कारण अप्राप्य समझ लिया जाता है यहां तक कि इसे छोड़ दिया जाता है। इस स्टार्टअप मास्टरक्लास में, एसएमसी सेलेक्ट और आइडियाथॉन जैसी प्रतियोगिताओं के माध्यम से, हम राष्ट्र को मूल्य प्रदान करने के लिए तेज तर्रार मस्तिष्कों का न केवल पोषण करते हैं अपितु उन्हें प्रश्रय देते हैं।
इस मौके पर उपस्थित प्रतिभागियों के लिए अनेक प्रकार की गतिविधियों जैसे आइडियाथॉन, एसएमसी सिलेक्ट, इनोवेशन टॉक, सक्सेज स्टोरीज, रिजर्व पिच, हाउ टू क्रिएट किलर पिच विशेषतौर पर आयोजित की गई।

You may also like

Leave a Comment