Home प्रादेशिक वैश्विक प्रतिस्पर्धा में अंतर्राष्ट्रीय पहचान के लिए मैन्युफैक्चरिंग एवं सेवा सेक्टर में गुणवत्ता जरुरी : डॉ. शर्मा

वैश्विक प्रतिस्पर्धा में अंतर्राष्ट्रीय पहचान के लिए मैन्युफैक्चरिंग एवं सेवा सेक्टर में गुणवत्ता जरुरी : डॉ. शर्मा

by Business Remedies
0 comment

उदयपुर। क्वालिटी सर्किल फोरम ऑफ इण्डिया राजसमन्द चेप्टर के 18 वें अधिवेशन के अवसर पर पेसिफिक विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित भव्य समारोह में मुख्य अतिथि पद से संबोधित करते हुए डॉ. भगवती प्रकाश शर्मा ने कहा कि वैश्विक प्रतिस्पर्धा के युग में मजबूत भारत की अंतर्राष्ट्रीय पहचान के लिए हमारे मैन्युफैक्चरिंग एवं सेवा सेक्टर में गुणवत्ता के प्रति प्रतिबद्धता अत्यन्त आवश्यक है।
प्रारंभ में जे.के. टायर के महाप्रबंधक (मानव संसाधन) री राकेश श्रीवास्तव ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर कारखानों की गुणवत्ता सर्किल विचारधारा बहुमूल्य योगदान करती है। वहीं कार्यक्रम के सह आयोजक पेसिफिक यूनिवर्सिटी की प्रोवोस्ट (डीन) प्रो. महिमा बिड़ला ने यूनिवर्सिटी के संस्थापक चेयरमैन भोलाराम अग्रवाल के शिक्षा में योगदान को रेखाकिंत करते हुए कार्यक्रम पर प्रकाश डाला।
इसी प्रकार क्यूसी एफ.आई राजसमन्द चेप्टर के चेयरमैन राधाश्याम केडिया ने क्वालिटी सर्किल ऑफ इण्डिया के कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी दी एवं राज्य एवं राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय गुणवता अधिवेषनों तथा उनमें उद्योगों की भागीदारी के लाभों के बारे में बताया। वहीं उदयपुर चेम्बर ऑफ कॉमर्स के अध्यक्ष राकेश सिंघवी ने विशिष्ट अतिथि पद से संबोधित करते हुए कि उद्योगों एवं सेवा क्षेत्रों में गुणवत्ता के प्रति जागरूक सांस्कृतिक बदलाव में इस तरह के अधिवेशनों के माध्यम से जरूरी बताया। साथ ही सिक्योर मीटर्स के वैश्विक गुणवता प्रमुख गौरांग शाह ने भारत के अंतरिक्ष कार्यक्रमों का उदाहरण देते हुए बताया कि किस तरह वे असफलताओं से सीख लेते हुए आज विश्व में सफलता का परचम लहरा रहे है।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @2023  All Right Reserved – Developed by IJS INFOTECH