Home कम्पनी फोकस माईक्रोसॉफ्ट एप्लिकेशंस और डिजिटल ट्रांसर्फोमेशन कंपनी ‘ऑल ई टेक्नोलॉजीज लि.’ के आईपीओ में है दीर्घावधि निवेश की व्यापक संभावनाएं

माईक्रोसॉफ्ट एप्लिकेशंस और डिजिटल ट्रांसर्फोमेशन कंपनी ‘ऑल ई टेक्नोलॉजीज लि.’ के आईपीओ में है दीर्घावधि निवेश की व्यापक संभावनाएं

by Business Remedies
0 comment

वैश्विक स्तर पर भारत है आईटी एवं बीपीएम सेक्टर का लीडर

9 दिसम्बर को खुलकर 13 दिसम्बर,2022 को बंद होगा कंपनी का आईपीओ

बिजनेस रेमेडीज/जयपुर। वैश्विक स्तर पर भारत आईटी एवं बीपीएम सेक्टर का लीडर है। इसलिए इस सेक्टर में अच्छा कार्य करने वाली कंपनियों में अच्छी निवेश संभावनाएं हैं। इस क्षेत्र में कार्यरत नई दिल्ली आधारित माईक्रोसॉफ्ट एप्लिकेशंस और डिजिटल ट्रांसर्फोमेशन कंपनी ऑल ई टेक्नोलॉजिस लि. द्वारा कारोबारी विस्तार, समान क्षेत्र की कंपनियों का अधिग्रहण व सामान्य कॉर्पोरेट कार्यों हेतु पूंजी जुटाने के लिए एनएसई इमर्ज प्लेटफॉर्म पर आईपीओ लाया जा रहा है। कंपनी द्वारा आईपीओ से जुटाई पूंजी में से कारोबारी विस्तार पर 25 करोड़ रुपये और अधिग्रहण पर 10 करोड़ रुपये निवेश करना प्रस्तावित है। आज के लेख में हम कंपनी की कारोबारी गतिविधियों के साथ इंडस्ट्री डायनेमिक्स, मूल्यांकन जैसे विषयों को जानने का प्रयास करेंगे।

 यह करती है कंपनी: ऑल ई टेक्नोलॉजीज लि. ग्राहकों को प्रौद्योगिकी युग में इंटेलिजेंस बिजनेस एप्लिकेशंस के माध्यम से कारोबार में अग्रणी बने रहने में मदद करती है। माईक्रोसॉफ्ट एजुरे एंड कोलोब्रेशन प्लेटफॉर्म्स द्वारा संचालित माईक्रोसॉफ्ट डायनेमिक्स 365,पॉवर प्लेटफॉर्म, डाटा और एआई के मदद से कंपनी ग्राहकों को आधुनिक प्रौद्योगिकी सेवाएं देती है। ऑल ई टेक्नोलॉजीज लि. ईआरपी, सीआरएम, कॉलोब्रेशन पोर्टल, मोबाइल एप्स इत्यादि के माध्यम से कंपनी व ग्राहकों, फैक्ट्री व फील्ड सर्विसेज, स्टोर फ्रंट व सप्लाई चेन, मरीज एवं सेवा प्रदाताओं, लोगों व सरकार को एक साथ लाने में मदद करती है। कंपनी यूएसए और यूरोप के कुछ बड़े माईक्रोसॉफ्ट बिजनेस भागीदारों को ऑफश्योर प्रौद्योगिकी सेवाएं भी प्रदान करती है। कोविड प्रतिबंधों के बाद कंपनी का 100 फीसदी कार्यबल वर्क-फ्रॉम-होम मॉडल में स्थानांतरित हो गया। कंपनी का कार्यालय नोएडा में है।

कंपनी में कुल 330 कर्मचारी कार्यरत हैं,जो कि प्रबंधन,सूचना प्रौद्योगिकी जैसे प्रमुख विषयों में दक्ष हैं। कंपनी के पास 750 से अधिक ग्राहकों के साथ 2 दशकों से अधिक का अनुभव है। यह भारत से किसी भी भागीदार द्वारा अधिग्रहीत व्यावसायिक एप्लिकेशन ग्राहकों की उच्चतम संख्या है। कंपनी के अपने कुल कारोबार का 50 फीसदी राजस्व अमेरीका, 35 फीसदी भारत से और 10 से 15 फीसदी अन्य देशों में प्राप्त होता है। कंपनी ने लंबे समय में ग्राहकों से अच्छे कारोबारी रिश्ते स्थापित किए हैं,इससे कंपनी को नियमित रूप से कारोबार प्राप्त हो रहा है।

इंडस्ट्री के डायनेमिक्स: माईक्रोसॉफ्ट की वित्त वर्ष 21 फाइलिंग के अनुसार – दी माईक्रोसॉफ्ट 365 बिजनेस में 43 फीसदी की वृद्धि हुई। ओवरऑल डायनेमिक उत्पादों और क्लाउड सेवाओं में 25 फीसदी की वृद्धि हुई। वैश्विक माइक्रोसॉफ्ट बिजनेस एप्लिकेशंस का वर्तमान अनुमान 35 बिलियन (प्रोडक्ट+सर्विसेज) का है और यह तेजी से बढ़ रहा है। अगले 2 से 3 साल में इसके 50 बिलियन अमेरिकी डॉलर से अधिक होने का अनुमान है। वैश्विक स्तर पर 2022-2027 की पूर्वानुमान अवधि के दौरान आईटी सेवाओं के बाजार में लगभग 10.36 फीसदी सीएजीआर दर्ज करने की उम्मीद है। आईटी खर्च में वृद्धि, सॉफ्टवेयर-एज-ए-सर्विस के व्यापक रूप से अपनाने के साथ-साथ , क्लाउड-आधारित पेशकश में बढ़त उद्योग में आईटी सेवाओं की मांग बढ़त को इंगित करता है। उन्नत सुरक्षा समाधान की मांग वाले चलन के बाजार में बढऩे के साथ, कंपनियों ने अपने संसाधनों को बढ़ाने के लिए निवेश करना शुरू कर दिया है। आईटी और बीपीएम क्षेत्र भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए सबसे महत्वपूर्ण विकास उत्प्रेरकों में से एक बन गया है, जो देश की जीडीपी और लोक कल्याण के लिए महत्वपूर्ण रूप से योगदान दे रहा है। आईटी उद्योग ने 2020 में भारत के सकल घरेलू उत्पाद का 8 फीसदी हिस्सेदारी निभाई है और इसके 2025 तक भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 10 फीसदी योगदान करने की उम्मीद है। उक्त तथ्यों से स्पष्ट है कि देश के आईटी एवं बीपीएम सेक्टर में कार्य करने वाली कंपनियों को अच्छे मार्जिन के साथ ग्रोथ मिलती रहेगी। ऑल ई टेक्नोलॉजीज लिमिटेड के लिए भी भविष्य में अच्छी ग्रोथ हासिल करने की उम्मीद है।

आईपीओ का मूल्यांकन: वित्त वर्ष 2022 के ईपीएस 6.94 के आधार पर कंपनी का आईपीओ करीब 13 के पीई मल्टीपल पर आ रहा है। वित्त वर्ष 2023 की जून तिमाही में कंपनी ने 4.64 करोड़ रुपये का पॉजिटिव कैश फ्लो ऑपरेटिंग गतिविधियों से अर्जित किया है। जून तिमाही में कंपनी की कुल असेट 71.51 करोड़ रुपये, नेट वर्थ 47.53 करोड़ रुपये, रिजर्व एंड सरप्लस 32.20 करोड़ रुपये दर्ज किया गया। वित्त वर्ष 2021 में 24.85 का रिटर्न ऑन नेटवर्थ एवं वित्त वर्ष 2022 में 24.61 फीसदी का रिटर्न ऑन नेटवर्थ रहा है। वित्त वर्ष 2023 के जून तिमाही तक कंपनी का नेट असेट वेल्यू 31.01 रुपये था यानि की कंपनी का आईपीओ करीब 3 के प्राईस टू बुक वेल्यू पर आ रहा है। आईटी कंपनी के लिहाज से कंपनी का वेल्यूएशन काफी वाजिब कहा जा सकता है। सबसे अच्छी बात है कि कंपनी की बुक पर शोर्ट टर्म लोन 4.70 लाख रुपये दिखाया गया है कि यानि कि कंपनी की कैश रिच कंपनी है और कंपनी पर किसी भी प्रकार का कर्ज नहीं है। वहीं कंपनी का कर पश्चात शुद्ध लाभ मार्जिन भी 12 से 13 फीसदी से अधिक आ रहा है। वित्तीय प्रदर्शन और आंकडों को देखते हुए कंपनी के आईपीओ को दीर्घावधि निवेश के लिहाज से अच्छा कहा जा सकता है।

कंपनी के आईपीओ के संबंध में जानकारी:  ऑल ई टेक्नोलॉजीज लिमिटेड का आईपीओ 9 दिसम्बर को खुलकर 13 दिसम्बर 2022 को बदं होगा। कंपनी द्वारा 10 रुपये फेसवेल्यू के 5400000 शेयर बुक बिल्ट प्रणाली से 87 से 90 रुपये प्रति शेयर के भाव जारी किए जायेंगे जिसमें 4900000 शेयर फ्रेश इश्यू के तहत और 500000 शेयर ऑफर फोर सेल के तहत बिक्री किए जायेंगे। कंपनी के आईपीओ का मार्केट लॉट साईज 1600 शेयरों का है यानि कि निवेशकों को कंपनी के आईपीओ में 1 लॉट के लिए 1.44 लाख रुपये निवेश करने होंगे।  कंपनी के आईपीओ में 50 फीसदी शेयर क्यूआईबी कैटेगरी, 15 फीसदी एनआईआई कैटेगरी और 35 फीसदी रिटेल कैटेगरी के निवेशकों के लिए आरक्षित किए गए हैं। कंपनी के आईपीओ के आईपीओ का प्रबंधन प्रमुख लीड मैनेजर कंपनी यूनिस्टोन केपिटल प्राईवेट लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है।

नोट: कंपनी के आईपीओ में निवेश करने से पूर्व निवेशक पंजीकृत निवेश सलाहकारों की सलाह लेंवे।

You may also like

Leave a Comment