Home टूरिज्म पांच सितारा होटल विवांता मेघालय, शिलांग का उद्घाटन

पांच सितारा होटल विवांता मेघालय, शिलांग का उद्घाटन

by Business Remedies
0 comment


बिजऩेस रेमेडीज
मेघालय के मुख्यमंत्री, कॉनराड के. संगमा ने एक ऐतिहासिक समारोह में मेघालय के पहले पांच सितारा होटल, विवांता मेघालय, शिलांग का उद्घाटन किया। इस कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्रियों, मेघालय से राज्यसभा के सदस्य, मुख्य सचिव, पुलिस महानिदेशक, एमटीडीसी के अध्यक्ष, वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों, मीडिया के प्रतिनिधियों तथा सामाजिक संगठनों के गणमान्य सदस्यों ने अपनी उपस्थिति दर्ज की।
मुख्यमंत्री ने इसे सही मायने में मेघालय के इतिहास में एक गौरवपूर्ण अवसर बताया। उन्होंने इस बात को भी उजागर किया कि वर्ष 1986 से होटल के निर्माण का काम चल रहा था, लेकिन मौजूदा सरकार की ओर से भरपूर प्रोत्साहन दिए जाने के बाद ही इसे पूरा करना संभव हो पाया। उन्होंने कोविड-19 की वजह से सामने आने वाली बाधाओं के बावजूद इस परियोजना को पूरा करने के लिए सभी भागीदारों को बधाई दी और उनका शुक्रिया अदा किया। लगभग 8,800 वर्ग-मीटर के क्षेत्र में निर्मित इस होटल में 101 कमरों के साथ-साथ एक स्पेशलिटी रेस्टोरेंट, कॉफी शॉप, बार, खुदरा दुकानें, और एक बैंक्वेट हॉल के अलावा अन्य सुविधाएँ उपलब्ध हैं। इस होटल का स्वामित्व मेघालय पर्यटन विकास निगम (एमटीडीसी) के पास है और इसे सार्वजनिक-निजी भागीदारी (पीपीपी) मॉडल के तहत आईएचसीएल को संचालन हेतु 33 वर्षों की अवधि के लिए लीज पर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि विवांता मेघालय, शिलांग के साथ-साथ मैरियट के आगामी होटल कोर्टयार्ड के शुभारंभ के बाद राज्य में उच्च कोटि के पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा। इस मॉडल को आगे भी दोहराया जाएगा, ताकि मेघालय को इकोटूरिज्म के लिए सबसे पसंदीदा डेस्टिनेशन बनाया जा सके। आज हमने होटल को आईएचसीएल को सौंप दिया है और जल्द ही इसे आगंतुकों के लिए खोल दिया जाएगा।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आने वाले 10 सालों में मेघालय को देश के शीर्ष 10 राज्यों में स्थान दिलाने के अपने विजऩ को दोहराया और कहा कि इस पर्यटन ही इस विजऩ को साकार करने की बुनियाद है। उन्होंने बताया कि सरकार हब एंड स्पोक मॉडल के आधार पर पर्यटन का विकास कर रही है, जिसमें सोहरा, जोवाई, शिलांग, उमियम और तुरा केंद्र की तरह काम करेंगे, जबकि इसके आसपास के ग्रामीण पर्यटन स्थलों को स्पोक के तौर पर विकसित किया जाएगा। सरकार ने अपनी इसी रणनीति के अनुरूप राज्य में पर्यटकों के रहने की बुनियादी सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए कई पहलों की शुरुआत की है। इनमें वेस्ट गारो हिल्स के सकलाडुमा, पश्चिमी जयंतिया हिल्स के शोंगपडेंग, पूर्वी खासी हिल्स के सोहरा, रिभोई के मौलिंडप और नोंगमहिर, पश्चिमी खासी पहाडय़िों के नोंगखनम, पश्चिमी जयंतिया हिल्स में थडलास्कियन तथा दक्षिण-पश्चिमी गारो हिल्स में पेलगवारी में बड़े रिसॉर्ट्स के साथ-साथ पर्यटन बुनियादी संबंधी सुविधाओं का निर्माण शामिल है। इन क्षेत्रों के कई गांवों में 5-10 करोड़ की लागत से टूरिज्म इंफ्रास्ट्रक्चर और सुविधाओं की स्थापना भी की जाएगी। पर्यटकों के रहने की बुनियादी सुविधाओं को और बढ़ाने के लिए होमस्टे योजना की शुरुआत की गई है, जिसके तहत अगले पांच सालों में पीएमईजीपी के सहयोग से 2,500 आवासीय इकाइयों का निर्माण किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा 10 लाख रुपये तक के लोन पर 35 प्रतिशत की सब्सिडी दी जा रही है, जो भारत सरकार द्वारा पीएमईजीपी के तहत दी जा रही 35 प्रतिशत सब्सिडी के अतिरिक्त है।
निवासियों के पास सिर्फ 5,000 रुपये की ईएमआई का भुगतान करके 50,000 रुपये तक का मासिक राजस्व अर्जित करने अवसर है। सरकार को अब तक 480 से अधिक आवेदन प्राप्त हो चुके हैं और लगभग 75 होमस्टे के निर्माण के लिए 7.1 करोड़ रुपये की मंजूरी दी जा चुकी है।
पर्यटकों के रहने की बुनियादी सुविधाओं को विकसित करने के अलावा, कनेक्टिविटी इंफ्रास्ट्रक्चर को भी बेहतर बनाया जा रहा है ताकि शिलांग की भीड़-भाड़ को कम किया जा सके और नए डेस्टिनेशन के लिए कनेक्टिविटी प्रदान की जा सके। परिवहन क्षेत्र की क्षमता बढ़ाने के लिए इलेक्ट्रिक बसों और लक्जरी पर्यटक वाहनों का संचालन शुरू किया जाएगा। इसके अलावा, 140 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किए जा रहे मशहूर शिलांग पीक रोपवे के भी इस साल के अंत तक शुरू होने की उम्मीद है। मुख्यमंत्री ने मेघालय ग्रासरूट म्यूजिक प्रोजेक्ट (एमजीएमपी) के बारे में भी बताया, जिसके हिस्से के रूप में शिलांग, सोहरा, तुरा और
जोवाई में नियमित संगीत कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। कलाकारों एवं उद्यमियों को आजीविका के अवसर उपलब्ध कराने के अलावा, एमजीएमपी राज्य की संगीत संस्कृति और विरासत को बढ़ावा देने में भी अहम भूमिका निभा रहा है, साथ ही पर्यटकों को भी बिल्कुल अनोखा अनुभव प्रदान कर रहा है।

You may also like

Leave a Comment