Home प्रादेशिक दी एसएसआई एसोसिएशन के सेमिनार में उद्यमियों की जीएसटी से जुड़ीसमस्याओं का हुआ समाधान

दी एसएसआई एसोसिएशन के सेमिनार में उद्यमियों की जीएसटी से जुड़ीसमस्याओं का हुआ समाधान

by Business Remedies
0 comment

कोटा। व्यपारियों के द्वारा यदि अपने जीएसटी रिटर्न में कोई अशुद्धि रह गई हो या कोई भूल सुधार हो तो उनके पास अपनी भूल को सुधारने के लिए सितम्बर 2019 तक का ही अंतिम मौका है। इसके बाद कोई भूल सुधार संभव नहीं है।
यह बात जयपुर से आये जीएसटी एक्सपर्ट पुलकित खण्डेलवाल ने दी एसएसआई एसोसिएशन, फेडरेशन ऑफ इण्डियन एक्सपोर्ट ओगनाईजेशन और यस बैंक द्वारा पुरूषार्थ भवन में आयोजित सेमिनार में कही। खण्डेलवाल ने अपने उद्बोधन मे कहा कि आईटीसी क्लेम को पुन: पाने, यदि व्यापारी के विक्रय पर कर का भुगतान शेष हो, डेटा संबंधी सुधार, डॉक्यूमेंट के एकत्रितकरण ना हो पाया हो तो सभी भूलों और सुधारों के लिए सितम्बर माह के बाद कोई भी मौका शेष नहीं होगा।
उन्होंने जीएसटी से जुड़े कई समस्याओं पर उद्यमियों की जिज्ञासा का समाधान किया। वहीं निर्यात एवं वार्षिक रिर्टन के संबध में कई महत्पूर्ण जानकारियों को साझा किया। सेमिनार में 2 करोड़ के टर्नओवर को रिटर्न से बाहर रखने एवं हॉटल व्यवसाय की आय पर जीएसटी दर को कम करने सहित हाल ही में हुए जीएसटी परिवर्तनों पर बखूबी चर्चा हुई। वहीं एसएसआई एसोसिएशन के संस्थापक अध्यक्ष गोविन्द राम मित्तल ने भी कई जानकारियों को साझा किया। साथ ही सचिव दीपक मेहता ने बताया कि सेमिनार में यस बैंक के वरिष्ठ क्षेत्रिय व्यवसाय प्रमुख गौरव शर्मा ने आयात—निर्यात में बैंक द्वारा जारी विभिन्न सुविधाओं एवं रियायतों के बारे में बताया। इसी क्रम में फीओ राजस्थान के हेड भूपेन्द्र सिंह ने निर्यात से जुड़ी फीओ की सुविधाओं एवं रियायतों की चर्चा की। उन्होंने निर्यात मित्र एप के बारे में व्यापारियों को बताया और अधिक से अधिक कैसे लाभ अर्जित किया जा सकता है इसके बारे में जानकारियां साझा की। इस मौके पर संस्थापक अध्यक्ष गोविंद राम मित्तल, पूर्व अध्यक्ष बीएल गुप्ता आगामी अध्यक्ष मुकेश गुप्ता, राजेन्द्र अग्रवाल , विपिन सूद, अंकुर गुप्ता सहित कई उद्यमी उपस्थित रहे।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @2023  All Right Reserved – Developed by IJS INFOTECH