Home » चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी घडुंआं ने अकादमिक सत्र 2020-21 के लिए नई दाखिला व स्कॉलरशिप नीति की घोषणा की

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी घडुंआं ने अकादमिक सत्र 2020-21 के लिए नई दाखिला व स्कॉलरशिप नीति की घोषणा की

by Business Remedies
0 comment

चंडीगढ़। चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी घड़ुंआं ने आधुनिक अकादमिक मॉडल, रिसर्च, शैक्षिक प्रबंधों, अंतर्राष्ट्रीय और इंडस्ट्री गठजोड़, विद्यार्थियों के लिए कैंपस प्लेसमेंट शिविर आयोजित करवाने, खेल, सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन इत्यादि गतिविधियों से देश के शिक्षा जगत में अहम स्थान कायम किया है।
यह कहना है चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी घड़ुंआं के उप कुलपति डॉ. आर.एस.बावा का। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी घड़ुंआं की स्थापना वर्ष 2012 हुई थी और स्थापना के केवल 7 वर्षों में यूनिवर्सिटी ने राष्ट्रीय संस्था नैक से ए+ग्रेड संस्था का दर्जा प्राप्त कर लिया है। उन्होंने 2020-241 के लिए दाखिला नीति की घोषणा करते हुए यूनिवर्सिटी में नए सैशन से इंजीनियरिंग और एमबीए प्रोग्रामों में दाखिले के लिए सी.यू.सी.ई.टी. दाखिला परिक्षा अनिवार्य होने की घोषणा की। इस ऑनलाईन परिक्षा में मैरिट के आधार पर उत्र्तींर्ण विद्यार्थियों को यूनिवर्सिटी में दाखिला मिलेगा। इस राष्ट्रीय स्तर की परिक्षा में 109 कोर्सों में मैरिट में आने वाले विद्यार्थियों को 100 प्रतिशत तक के वजीफे भी दिये जायेंगे,जिसके लिए यूनिवर्सिटी की ओर से २७ करोड़ रुपये का स्कॉलरशिप बजट भी आरक्षित किया गया है। दाखिला प्रक्रिया को 3 दौरों में पूर्ण किया जायेगा। पहले दौर के लिए पंजीकरण यूनिवर्सिटी की वेबसाईट पर 20 दिसम्बर तक किया जा सकता है।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @ Singhvi publication Pvt Ltd. | All right reserved – Developed by IJS INFOTECH