Home प्रादेशिक औद्योगिक क्षेत्र में नवाचारों को मिलेगा प्रोत्साहन : मीणा

औद्योगिक क्षेत्र में नवाचारों को मिलेगा प्रोत्साहन : मीणा

by Business Remedies
0 comment

जयपुर। उद्योग एवं राजकीय उपक्रम मंत्री परसादी लाल मीणा ने राज्य के एमएसएमई उद्यमों से उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए 28 जून तक आवेदन करने को कहा है। उन्होंने बताया कि कुल 14 उद्योग रत्न पुरस्कार दिए जाएंगे। जिसमें 12 पुरस्कार एमएसएमई उद्यमों और एक एक पुरस्कार हस्तशिल्पि और बुनकर को दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि उद्योग रत्न पुरस्कारों से राज्य में उद्योगों के बीच स्वस्थ्य प्रतिस्पर्धा स्थापित होने के साथ ही प्रदेश में औद्योगिक क्षेत्र में नवाचारों व औद्योगिक प्रतिष्ठानों को और अधिक बेहतर कार्य करने का अवसर मिलता है।
उद्योग मंत्री श्री मीणा ने बताया कि उद्योग रत्न पुरस्कारों में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों की प्रत्येक श्रेणी में चार-चार पुरस्कार दिए जाएंगे। इसके साथ ही राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हस्तषिल्पियों एवं बुनकर वर्ग में से एक-एक पुरस्कार दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पुरस्कार स्वरुप एक-एक लाख रुपए नकद, प्रशस्ति पत्र और शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया जाएगा।
मीणा ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा घोषित एमएसएमई नीति के तहत प्रदेश में उत्कृष्ठ प्रदर्शन करने वाले उद्यमों को पुरस्कृत करने का प्रावधान है और इसी की क्रियान्विति में इस साल के पुरस्कारों के लिए 28 जून तक प्रस्ताव मांगे गए हैं। उन्होंने बताया उद्योग रत्न पुरस्कारों की विस्तृत जानकारी विभागीय वेबसाइट से प्राप्त की जा सकती है। इसके अलावा जिला उद्योग केन्द्रों से भी संपर्क कर उद्योग रत्न पुरस्कारों के आवेदन, आवष्यक दस्तावेजों आदि की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।
उद्योग आयुक्त व सचिव सीएसआर डॉ. कृष्णा कांत पाठक ने बताया कि एमएसएमई क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए दिए जाने वाले 12 पुरस्कारों में प्रत्येक वर्ग यानी कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को एक टर्नओवर की दृष्टि से सर्वाधिक ग्रोथ, दो पर्यावरण मापदंडों, उर्जा संरक्षण तकनीक को अपनाने, श्रम उत्पादकता बढ़ाने और श्रम कल्याण के क्षेत्र में नवाचारों, तीन सर्वश्रेष्ठ महिला उद्यमी और चार बीमार उद्योग के पुनरुर्द्धार के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले उद्योगों के प्राप्त आवेदनों में से उत्कृष्ठता के आधार पर चयन कर लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योगों को चार-चार अर्थात 12 पुरस्कार दिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि इसके अलावा एक-एक पुरस्कार राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हस्तशिल्पियों एवं बुनकरों के प्राप्त आवेदनों में से चयन कर दिया जाएगा।
डॉ. पाठक ने बताया कि उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए आवेदन करने वाले उद्योग एमएसएमईडी एक्ट 2006 के अंतर्गत ईएम पार्ट ।। या उद्योग आधार प्रमाण पत्र धारक राजस्थान के उद्यम जो गत तीन वर्षो से निरंतर उत्पादनरत होने के साथ ही किसी भी श्रेणी के आवेदक किसी भी आपराधिक मामलें में संलिप्त नहीं होने चाहिए। उन्होंने बताया कि राजस्थान उद्योग रत्न पुरस्कारों के लिए विभागीय वेबसाइट या जिला उद्योग केन्द्र पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध है। इच्छुक उद्यमी वेबसाइट से आवेदन डाउनलोड कर या जिला उद्योग केन्द्र से आवेदन प्राप्त कर आवेदन मय अनुलग्नकों के व्यक्तिगत या डाक द्वारा संबंधित जिला उद्योग केन्द्र में 28 जून, 2019 तक जमा कराए जा सकते है।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @2023  All Right Reserved – Developed by IJS INFOTECH