Home प्रादेशिक एजी डॉटर्स ने जयपुर सहित 8 शहरों में कचरे से बिजली, फ्यूल और पानी के प्लांट स्थापित करने में दिखाई रुचि

एजी डॉटर्स ने जयपुर सहित 8 शहरों में कचरे से बिजली, फ्यूल और पानी के प्लांट स्थापित करने में दिखाई रुचि

by Business Remedies
0 comment

जयपुर। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने कहा है कि देश-विदेश के औद्योगिक प्रतिष्ठान अब राजस्थान में निवेश को प्राथमिकता देते हुए आगे आने लगे हैं। उन्होंने बताया कि यूएस बेस्ड एजी डॉटर्स ने राज्य के जयपुर सहित आठ शहरों में करीब 20 हजार करोड़ के निवेश से ठोस एवं तरल कचरा आधारित उर्जा, फयूल उत्पादन के साथ ही पीने के पानी उपलब्ध कराने का प्लांट स्थापित करने में रुचि दिखाई है। वहीं जेके सीमेंट ने विस्तार में रुचि दिखाई है।
एसीएस डॉ. अग्रवाल उद्योग भवन के ब्यूरो ऑफ इंवेस्टमेंट प्रमोशन में आयुक्त उद्योग मुक्तानंद अग्रवाल के साथ संवाद कार्यक्रम के तहत एजी डॉटर्स एवं जेके सीमेंट कंपनी के प्रतिनिधियों से रुबरु हो रहे थे। गौरतलब है कि अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. अग्रवाल आयुक्त उद्योग व संबंधित विभागों के प्रतिनिधियों के साथ प्रदेश के औद्योगिक प्रतिष्ठानों से नए औद्योगिक निवेश, विद्यमान इकाइयों के विस्तार कार्यक्रम और रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए नियमित संवाद कायम कर रहे हैं।
इस दौरान अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. अग्रवाल व आयुक्त श्री मुक्तानंद अग्रवाल को एजी डॉटर्स के प्रतिनिधियों ने प्रजेटेंशन देते हुए बताया कि एजी डॉटर्स विश्व की नवीनतम तकनीक का प्रयोग करते हुए प्रदेश के जयपुर सहित 8 शहरों मेंं ठोस व तरल कचरे का शतप्रतिशत निष्पादन करते हुए उससे 13735 मेगावाट बिजली का उत्पादन, 695 एमएलडी पीने का पानी और 495 एमएलडी फ्यूल में गैस व डीजल आदि के उत्पादन की रुपरेखा प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि कंपनी को इकाई की स्थापना के लिए कचरा डंपिग स्थान के पास 3 एकड़ भूमि की आवश्यकता होगी वहीं कंपनी पूरी तरह से विदेशी निवेश से इकाई की स्थापना करेगी। उन्होंने बताया कि कंपनी द्वारा यूएस में काम किया जा रहा है। देश में यूपी, बिहार, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश में इकाइयोंं का काम जारी है। उन्होंने बताया कि उनका प्लांटं ठोस व तरल कचरे से करीब करीब जीरो लॉस करते हुए उत्पादन करता है। अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. अग्रवाल ने एजी डॉटर्स के प्रस्ताव पर संबंधित विभागों के साथ उच्च स्तरीय बैठक में प्रस्तुतिकरण कराने के निर्देश दिए।
आयुक्त मुक्तानंद अग्रवाल ने बताया कि राज्य में औद्योगिक निवेश, विद्यमान उद्योगों के विस्तारीकरण कार्यक्रमों और रोजगारपरक उद्यमों को प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने बताया कि नियमित संवाद कार्यक्रम से प्रदेश में औद्योगिक निवेश का बेहतर माहौल बनेगा और उद्योगों व सरकार के बीच बेहतर समंन्वय बनेगा। आयुक्त अग्रवाल ने एजी डॉटर्स और जेके सीमेंट से विस्तार से उनकी कार्ययोजना और प्रस्तावों पर चर्चा की और सुझाव भी दिए। बैठक में जेके सीमेंट ने प्रदेश में विस्तार कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि 868 करोड़ रु. का निवेश कर सीमेंट इकाई की उत्पादन क्षमता को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने बताया कि कंपनी ओएलबीसी तैयार कराने की योजना भी है। उन्होंने बताया कि इससे प्रदेश में 2.48 मिलियन टन उत्पादन में बढ़ोतरी होगी।

You may also like

Leave a Comment

Business Remedies is the Leading Hindi Financial Publication, circulating all over Rajasthan On Daily Basis.

Copyright @2021  All Right Reserved – Designed and Developed by PenciDesign