Home प्रादेशिक इज ऑफ र्डूइंग बिजनेस इन इंडिया पर आईसीएआई, आईसीएसआई एवं आईसीएमएआई द्वारा वर्कशॉप का आयोजन

इज ऑफ र्डूइंग बिजनेस इन इंडिया पर आईसीएआई, आईसीएसआई एवं आईसीएमएआई द्वारा वर्कशॉप का आयोजन

by Business Remedies
0 comment

जयपुर। जयपुर सीए ब्रांच चेयरमैन सीए लोकेश कासट, आईसीएएसआई चेयरमैन सीएस राहुल शर्मा, आईसीएमएआई ेचेयरमैन सीएमए एस. एल. स्वामी ने बताया कि जयपुर में पहली बार इज ऑफ डूईंग बिजनेस इन इंडिया से संबंधित एक वर्कशॉप का आयोजन आईसीएआई, आईसीएसआई एवं आईसीएमएआई के संयुक्त तत्वावधान में आईसीएआई, जयपुर ब्रांच में आयोजित किया गया। उन्होंने बताया कि कि इस वर्कशॉप क आयोजन का उद्देश्य कॉर्पोरेट मामलों के निर्देशानुसार वर्ष 2019 के लिए भारत में कारोबार करने में आसानी के लिए एमसीए द्वारा किए गए प्रगतिशील सुधारों के बारे में जागरूकता पैदा करना है।
इस वर्कशॉप के वक्ता एम. वी. चक्रनारायणन, क्षेत्रिय निदेशक एन.डब्ल्यू.आर. (एमसीए), यू.एस.पटोले, रजिस्ट्रार राजस्थान, सीए प्रयास शर्मा थे। चक्रनारायणन ने एमसीए द्वारा लिए गए प्रगतिशील रिफोमर्स को विस्तृत रूप से बताया। उन्होंने बताया कि कंपनियों के हितों को ध्यान में रखते हुए कंपनी संशोधन अधिनियम, 2017 में कुछ प्रावधानों को संशोधित/सम्मिलित किया गया है, जिनका उद्देश्य व्यापार करने में आसानी हो। वहीं यू.एस. पटोले ने कहा कि इज ऑफ डूईग ंविश्व बैंक द्वारा प्रकाशित एक सूचकांक है,जिसमें विभिन्न पैरामीटर शामिल हैं जो किसी देश में व्यापार करने में आसानी को परिभाषित करते हैं। इसके द्वारा सरकारों द्वारा स्थापित प्रक्रियाओं, नियमों और विनियमों से प्रभावित होते हैं, जो व्यवसाय के अनुकूल वातावरण को बढ़ावा देने या स्थानीय व्यवसायों को अपनी महत्वाकांक्षाओं को वापस लेने में मदद कर सकते है।
वहीं सेंट्रल काउंसिल मैम्बर सीए प्रकाश शर्मा ने कहा कि सरकार को शैल कंपनियों को परिभाषित करने की अत्यन्त आवश्यकता है अभी तक सरकार की तरफ सेकोई स्पष्ट परिभाषा नहीं है। इस वर्कशॉप में करीब 300 से अधिक प्रोफेशनल्स ने हिस्सा लिया।अंत में कार्यक्रम में उपस्थित सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद ज्ञापित किया और भविष्य में इस तरह के कार्यक्रम आयोजित करने का आश्वासन दिया।

You may also like

Leave a Comment

Voice of Trade and Development

Copyright @2023  All Right Reserved – Developed by IJS INFOTECH